Gopaldas "Neeraj"

Gopaldas "Neeraj"

all poems and poetry of Gopaldas "Neeraj" in Hindi.
Gopaldas "Neeraj"

0 74
अर्ध सत्य तुम, अर्ध स्वप्न तुम, अर्ध निराशा-आशा अर्ध अजित-जित, अर्ध तृप्ति तुम, अर्ध अतृप्ति-पिपासा, आधी काया आग तुम्हारी, आधी काया पानी, अर्धांगिनी नारी!...
Gopaldas "Neeraj"

0 51
अभी न जाओ प्राण ! प्राण में प्यास शेष है, प्यास शेष है, अभी बरुनियों के कुञ्जों मैं छितरी छाया, पलक-पात पर थिरक रही रजनी...
Gopaldas "Neeraj"

0 37
निष्ठुर इतना तो बतलाते! कौन भूल ऐसी की हमनें जो यह दण्ड दिया है तुमने थमते अश्रु न और भूलकर होंठ कभी मुस्काते। निष्ठुर...
Gopaldas "Neeraj"

0 89
मैंने जीवन विषपान किया, मैं अमृत-मंथन क्या जानूँ! मैं दीवानों का भेष लिए, सुख-दु:ख का चिन्तन क्या जानूँ! शैशव में ही जैसे मैंने, जीवन...
Gopaldas "Neeraj"

0 35
आज मेरी गोद में शरमा रहा कोई चाँद से कह दो नहीं वह मुस्कुराए। जा बहारों से कहो बोले न बुलबुल क्योंकि अनबोली कहानी...
Gopaldas "Neeraj"

0 57
आज पिला दो जी भर कर मधु कल का करो न ध्यान सुनयने। कल का करो न ध्यान! संभव है कल तक मिट जाए,...