Jeevan aur Uske Rahasyon ke Uttar

Jeevan aur Uske Rahasyon ke Uttar

0 27

Qus→ जीवन का उद्देश्य क्या है?

Ans→ जीवन का उद्देश्य उसी चेतना को जानना है जो जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त है। उसे जानना ही मोक्ष है।

Qus→ जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त कौन है?

Ans→ जिसने स्वयं को, उस आत्मा को जान लिया वह जन्म और मरण के बन्धन से मुक्त है।

Qus→संसार में दुःख क्यों है?

Ans→लालच, स्वार्थ, भय संसार के दुःख का कारण हैं।

Qus→ ईश्वर ने दुःख की रचना क्यों की?

Ans→ ईश्वर ने संसार की रचना की और मनुष्य ने अपने विचार और कर्मों से दुःख और सुख की रचना की।

Qus→ क्या ईश्वर है? कौन है वह? क्या रुप है उसका? क्या वह स्त्री है या पुरुष?

Ans→ कारण के बिना कार्य नहीं। यह संसार उस कारण के अस्तित्व का प्रमाण है। तुम हो इसलिए वह भी है उस महान कारण को ही आध्यात्म में ईश्वर कहा गया है। वह न स्त्री है न पुरुष।

Qus→ भाग्य क्या है?

Ans→हर क्रिया, हर कार्य का एक परिणाम है। परिणाम अच्छा भी हो सकता है, बुरा भी हो सकता है। यह परिणाम ही भाग्य है। आज का प्रयत्न कल का भाग्य है।

Qus→ इस जगत में सबसे बड़ा आश्चर्य क्या है?

Ans→ रोज़ हजारों-लाखों लोग मरते हैं फिर भी सभी को अनंतकाल तक जीते रहने की इच्छा होती है. इससे बड़ा आश्चर्य और क्या हो सकता है?

Qus→किस चीज़ को गंवाकर मनुष्य धनी बनता है?

Ans→ लोभ

्Qus→ कौन सा एकमात्र उपाय है जिससे जीवन सुखी हो जाता है?

Ans → अच्छा स्वभाव ही सुखी होने का उपाय है.

Qus → किस चीज़ के खो जाने पर दुःख नहीं होता

Ans → क्रोध

Join the House of LOVE, LIFE n LOLZ

SIMILAR ARTICLES