Tags Posts tagged with "boond"

boond

Subhadra Kumari Chauhan

0 111
तुम कहते हो - मुझको इसका रोना नहीं सुहाता है | मैं कहती हूँ - इस रोने से अनुपम सुख छा जाता है || ...
Kedarnath Agarwal

0 34
ओस-बूंद कहती है; लिख दूं नव-गुलाब पर मन की बात। कवि कहता है : मैं भी लिख दूं प्रिय शब्दों में मन...
Jaishankar Prasad

0 133
बीती विभावरी जाग री! अम्बर पनघट में डुबो रही तारा-घट ऊषा नागरी! खग-कुल कुल-कुल-सा बोल रहा किसलय का अंचल डोल रहा लो यह लतिका...
Gopaldas "Neeraj"

0 6
रूप की इस काँपती लौ के तले यह हमारा प्यार कितने दिन चलेगा ? नील-सर में नींद की नीली लहर, खोजती है भोर का तट...
Gopaldas "Neeraj"

0 7
गगन बजाने लगा जल-तरंग फिर यारों, कि भीगें हम भी ज़रा संग-संग फिर यारों. यह रिमझिमाती निशा और ये थिरकता सावन, है याद आने...
Gopaldas "Neeraj"

0 8
दिन गए बीत शर्मीली हवाओं के, दूर तक दिखते नहीं जूड़ें घटाओं के झाँकता खिड़की न कोई, हर किवाड़ा बंद, पी गया सुनसान सारा...